आज से मंदिरों में शुरू हुई पूजा ,इतिहास के पन्नों में हो रही है दर्ज

आज की पूजा परंपरा इतिहास के पन्नों में हो रही है दर्ज

ब्यूरो रिपोर्ट

आज से प्रदेश के मंदिरों में पूजा शुरू हो गई है मगर आज की पूजा अनुष्ठान इतिहास के पन्नों में दर्ज हो रही है।  ना मंदिरों में प्रसाद चढ़ाया जा रहा है । और ना मंदिरों में प्रसाद मिल रहा है ना मंदिरों में जाने वाले श्रद्धालुओं के माथे पर तिलक लगाई जा रही है और ना ही भगवान के श्री चरणों को छूने की इजाजत है कोरोना वैश्विक महामारी के चलते सरकार ने जो गाइडलाइंस जारी की है उसके मुताबिक बहुत ही अद्भुत और निराली पूजा हो रही है सच कहें तो या बहुत ही सरल और निराली पूजा है फिलहाल बद्रीनाथ केदारनाथ गंगोत्री यमुनोत्री धाम के लिए देवस्थानम बोर्ड यात्रा को लेकर गाइडलाइंस बनाएगा

केंद्र सरकार की गाइडलाइंस के मुताबिक आज से धार्मिक स्थलों को खोल दिया गया है । उत्तराखंड के सभी प्रमुख धार्मिक स्थल आज से खुल गए हैं। सुबह से एक-एक करके भक्त मंदिर पहुंच रहे हैं। मंदिरों में सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा जा रहा है। लॉक डाउन के पहले जिस तरह से मंदिरों में भक्तों की भीड़ लगती थी। आज  ऐसा नजारा नहीं है कई नए मापदंड अपनाये जा रहे हैं जिससे कोरोनावायरस के संक्रमण को भी फैलने से रोका जा सके।  खास बात है कि मंदिर में किसी तरह का कोई प्रसाद नहीं चढ़ाया जा रहा है । और ना ही मंदिर से श्रद्धालुओं को प्रसाद का वितरण किया जा रहा है। यह इतिहास में पहली बार होगा जब मंदिरों में नई परंपरा की शुरुआत हुई है । फिलहाल आप भी अपने इष्ट देवी देवता की पूजा अर्चना सोशल डिस्टेंसिंग बनाते हुए कर सकते हैं और सरकार के गाइडलाइंस का पालन करना भी जरूरी है । तभी हम कोरोना वैश्विक महामारी से निजात भी पा सकते हैं।

Editor in Chief

Deepak Narang

Recent story

Translate »
%d bloggers like this:
Breaking News